Saturday, March 2, 2024
HomeJharkhandस्वामी जी के आदर्शों को आत्मसात करने की जरूरत

स्वामी जी के आदर्शों को आत्मसात करने की जरूरत

स्वामी विवेकानंद की जयंती पर सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित

सामाजिक संस्था स्वामी विवेकानंद संघ, ठाकुरबारी (कुंथोल) के तत्वावधान में अंतरराष्ट्रीय युवा दिवस के अवसर पर स्वामी विवेकानंद की जयंती धूमधाम से मनाई गई एवं भव्य सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किए गए।
संस्था की ओर से स्वामी विवेकानंद के तस्वीर पर माल्यार्पण कर श्रद्धासुमन अर्पित किया गया। इस अवसर पर स्कूली बच्चों द्वारा रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया।
झारखंड उच्च न्यायालय के वरिष्ठ अधिवक्ता महेश तिवारी ने अपने संबोधन में कहा कि स्वामी विवेकानंद के जीवन के आदर्शों को आत्मसात करने की जरूरत है। स्वामी जी युवाओं के लिए प्रेरणास्रोत रहे हैं और उनका संपूर्ण जीवन समाज के प्रति समर्पित रहा। उनके पदचिन्हों पर चलना ही उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

स्वामी विवेकानंद संघ के अध्यक्ष समीर रवानी ने कहा कि स्वामी जी का जीवन अनुकरणीय है। उन्होंने समाज को सही दिशा दी। युवाओं के लिए उनका संदेश वर्तमान समय में भी प्रासंगिक है।

इसे भी पढ़ें : http://राम, रामत्व और रामराज्य पुनर्प्रतिष्ठापन का आ गया समय : बिनोद बंसल https://khabarjharkhand.com/the-time-has-come-to-re-establish-ram-ramtva-and-ram-rajya-binod-bansal/

इस दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति देने वाले स्कूली छात्रों/ प्रतिभागियों को पुरस्कार देकर उनका उत्साहवर्धन किया गया।
इस अवसर पर गौड़ चंद्र रवानी, सुरेश रवानी, उज्जवल बागटी,पवन चंद्र गोराई, गौतम बाउरी, हिमालय रवानी, सुमित बाउरी, विजय रवानी, समीर रवानी, सीमांत रवानी, आकाश रवानी, साधन रवानी, प्राण रवानी, विद्युत बागटी, रोहन बागटी, राकेश सहित काफी संख्या में सामाजिक कार्यकर्ता और संस्था से जुड़े युवा उपस्थित थे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments