Saturday, March 2, 2024
HomeJharkhandराष्ट्रीय खादी एवं सरस महोत्सव 2023-24 का शुभारंभ

राष्ट्रीय खादी एवं सरस महोत्सव 2023-24 का शुभारंभ

नृत्य नाटिका गांधी यात्रा कार्यक्रम से महोत्सव की होगी शुरूआत। महोत्सव में खादी के परिधानों पर आकर्षक छूट के साथ ही एडवेंचर के लिए महोत्सव में एम्यूज़मेंट पार्क भी होगा। महात्मा गांधी के जीवनी पर आधारित होगा गांधी संग्रहालय एवं झारखंडी व्यंजन से लेकर राजस्थानी, बिहारी एवं अन्य राज्यों के स्वादिष्ट व्यंजन बढ़ाएंगे लोगों का जायका।

रविवार (7 जनवरी) को झारखंड के मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन द्वारा राष्ट्रीय खादी एवं सरस महोत्सव 2023-24 का उद्घाटन शाम 4:00 बजे किया जाएगा। इसके साथ ही यह महोत्सव आम लोगों के लिए पूरे 6 दिनों तक निरंतर चालू रहेगा । यह जानकारी झारखंड खादी बोर्ड के सीईओ राखाल चन्द्र बेसरा द्वारा प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पत्रकारों को दी गई।
खादी बोर्ड के सीईओ श्री बेसरा ने बताया इस बार कार्यक्रम की शुरूआत नृत्य नाटिका गांधी यात्रा की प्रस्तुति से होगी जो की कला संस्कृति विभाग की ओर से आयोजित किया जा रहा है।

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान खादी बोर्ड के सीईओ राखाल चन्द्र बेसरा ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही आम जनों के लिए विभिन्न योजनाओं की जानकारी भी महोत्सव में शामिल हुए लोगों को दी जाएगी । श्री बेसरा ने बताया महोत्सव में लगभग 120 स्टॉल सरस की ओर से लगाए जाएंगे। यूआईडी ,मुख्यमंत्री लघु कुटीर उद्योग ,रेशम हस्तकरघा और हस्तशिल्प निदेशालय , झारक्राफ्ट एवं अन्य सरकारी स्टॉल भी शामिल हो रहे हैं।

श्री बेसरा ने बताया कि महोत्सव में हेल्थ डिपार्टमेंट की ओर से लोगों के लिए हेल्थ चेकअप कैंप की भी व्यवस्था रहेगी। कारपेट एरिया कालीन ,फर्नीचर, और कुकरी आइटम से गुलज़ार रहेगा

श्री बेसरा ने बताया कि खादी एवं सरस महोत्सव में 8 सेक्शन के कुल 300 स्टॉल है,जिसमें खादी और सरस से जुड़े स्टॉल भी शामिल हैं।
इस बार झारखंड के प्रमुख फ़ैब्रिक्स के नाम पर सेक्शन होंगे, वो नाम है : मायसाड़ी, कुखना, वीरू, बेतरा, करया, संथाली, पड़ीया, पिंदना ।

खादी की असली पहचान महात्मा गांधी से है।इसलिए इस बार भी राष्ट्रीय खादी एवं सरस महोत्सव महात्मा गांधी को समर्पित करते हुए महात्मा गांधी के जीवन के पहलुओं को समेटे गांधी संग्रहालय बनाया गया है । यह संग्रहालय महात्मा गांधी के विचार और उनका खादी के प्रति लगाव को दिखाएगा।

श्री बेसरा ने कहां की जितने भी सांस्कृतिक कार्यक्रम 07 जनवरी से 12 जनवरी 2024 तक आयोजित किए जाएंगे जिसमें पारंपरिक लोक नृत्य ,गायन एवं वादन ,हिंदी गायन, नृत्य नाटिका आधुनिक फोक गायन एवं बैंड शामिल होंगे वे सभी मुख्य स्टेज पर होंगे जिसका नाम झारखंड के वीर पुत्र बिरसा मुंडा के नाम रखा गया है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments