Saturday, February 24, 2024
HomeJharkhandसरला बिरला पब्लिक स्कूल में ग्रैंड पैरेंट्स को समर्पित दिवस "वात्सल्यम 2023"...

सरला बिरला पब्लिक स्कूल में ग्रैंड पैरेंट्स को समर्पित दिवस “वात्सल्यम 2023” का आयोजन हुआ

कक्षा द्वितीय-डी के छात्रों ने अपना प्रदर्शन ’रिदमिक स्कॉलर्स’ प्रस्तुत किया, जिसमें यह संदेश दिया गया कि शिक्षा एक मौलिक अधिकार है और सभी की पहुंच शिक्षा तक होनी चाहिए।

 

सरला बिरला पब्लिक स्कूल में ग्रैंड पैरेंट्स डे, ’वात्सल्यम’ का भव्य आयोजन संपन्न हुआ। इस कार्यक्रम में बड़ी संख्या में बच्चों के दादा-दादी एवं नाना-नानी उपस्थित हुए। इस वर्ष भारत की जी-20 प्रेसीडेंसी की भावना, उत्साह और उद्देश्य को आगे बढ़ाते हुए स्कूल ने ग्रैंड पैरेंट्स डे समारोह के लिए सतत विकास लक्ष्यों की थीम को चुना। समारोह में मुख्य अतिथि के रुप में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, जैप-4 कमांडेंट श्री अश्विनी कुमार सिन्हा उपस्थित थे। कार्यक्रम की शुरुआत मुख्य अतिथि और अन्य गणमान्य व्यक्तियों द्वारा दीप प्रज्ज्वलन के साथ हुई। विद्यालय के कक्षा द्वितीय के छात्रों द्वारा स्वागत गीत प्रस्तुत किया गया। अगला कार्यक्रम कक्षा द्वितीय-ई के नन्हे-मुन्ने बच्चों द्वारा भूमि पर जीवन के संरक्षण की आवश्यकता पर आधारित कार्यक्रम ’प्रतिध्वनि’ प्रस्तुत किया गया। कक्षा द्वितीय- बी के बच्चों ने ’जल तारिणी’ नामक प्रस्तुति से जल संरक्षण का संदेश दिया। ’समत्वम’ नामक प्रस्तुति बेहद आकर्षक थी, क्योंकि इस कार्यक्रम में कक्षा द्वितीय-सी के छात्र गढ़वाली लोक धुनों पर थिरक रहे थे। लैंगिक समानता का संदेश देने के लिए छात्रों ने ’अर्धनारीश्वर’ की प्रस्तुति दी। कक्षा द्वितीय-डी के छात्रों ने अपना प्रदर्शन ’रिदमिक स्कॉलर्स’ प्रस्तुत किया, जिसमें यह संदेश दिया गया कि शिक्षा एक मौलिक अधिकार है और सभी की पहुंच शिक्षा तक होनी चाहिए। अच्छे स्वास्थ्य और स्वस्थ दिमाग के महत्व को प्रोत्साहित करने के लिए, कक्षा द्वितीय- ए के छात्रों ने अपने प्रदर्शन, ’डिवाइन ब्लिस’ का मंचन किया। शांति दूत कार्यक्रम में द्वितीय-एफ के विद्यार्थियों ने आशावादी वातावरण को बढ़ावा देने के लिए शांति की प्रस्तुति दी। विद्यालय के हेड बॉय श्रीजय सिन्हा ने शैक्षिक और सह-शैक्षिक दोनों क्षेत्रों में स्कूल की उपलब्धियों पर प्रकाश डालते हुए वार्षिक रिपोर्ट प्रस्तुत किया। बाल विकास और मानसिक स्वास्थ्य संस्थान, दीपशिखा के बच्चों एवं शिक्षको को अपनी राखियाँ और अन्य हस्तनिर्मित वस्तुओं को प्रदर्शित करने और बेचने के लिए आमंत्रित किया गया था। आज का यह कार्यक्रम बेहद सफल रहा। उपस्थित दादा-दादी एवं नाना-नानी, समारोह की यादें संजो कर एवं बच्चों और शिक्षकों को ढेर सारा आशीर्वाद देकर लौटे।

मुख्य अतिथि श्री अश्विनी कुमार सिन्हा ने तीन पीढ़ियों के दर्शकों को संबोधित करना अपना सौभाग्य समझा और ऐसे आयोजनों के लिए स्कूल के प्रति आभार व्यक्त किया। उन्होने कहा कि यह भारत के लिए जी-20 शिखर सम्मेलन की अध्यक्षता के साथ विशेष रूप से गरीबी उन्मूलन, भूख उन्मूलन, लैंगिक समानता, मानसिक कल्याण और अच्छे स्वास्थ्य के क्षेत्र में अपनी क्षमता साबित करने का एक बड़ा अवसर है।

विद्यालय के कार्मिक एवं प्रशासनिक प्रमुख डॉ. प्रदीप वर्मा ने हर साल ऐसे प्रासंगिक विषयों पर इस कार्यक्रम के संचालन के लिए छात्रों, अभिभावकों और शिक्षकों के प्रयासों की सराहना की।

प्राचार्या श्रीमती परमजीत कौर ने छात्रों और शिक्षकों की कड़ी मेहनत व समर्पण की सराहना की साथ ही अभिभावकों के सहयोग की भी सराहना की। उन्होंने यह भी गर्व से बताया कि हमारा देश जी-20 शिखर सम्मेलन का अध्यक्ष होने के नाते विश्व का नेतृत्व कर रहा है। उन्होंने कहा कि स्कूल भविष्य के ऐसे नेता तैयार करने की कल्पना करता है जो हमारी समृद्ध विरासत को और आगे बढ़ा सकें। उन्होंने छात्रों को ऐसे टिप्स भी दिए जिससे वे पुरानी पीढ़ी के साथ अपने संबंधों को मजबूत कर सके।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments